Jamia

जामिया अल हिदाया जामिया नगर नगला राई में स्वतंत्रता दिवस के मौके शनादर प्रोग्राम आयोजित हुआ

चरथावल
जामिया अल हिदाया जामिया नगर
नगला राई में स्वतंत्रता दिवस के मौके शनादर प्रोग्राम आयोजित हुआ कांग्रस के दिग्गज नेता सोमांश प्रकाश,संस्था अध्यक्ष हाफ़िज़ फुरक़ान असअदी,प्रबन्धक मौलाना मूसा क़ासमी ,आसिफ राही मौलाना अहसानुलहक़ क़ासमी समेत गणमान्य लोगो द्वारा राष्ट्रीय ध्वजारोहण किया गया, मदनी एजुकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के तहत जामिया अल हिदाया जामिया नगर व गर्ल्स संस्था जामिया आएशा सिद्दीका लिल बनात का जश्ने आज़ादी प्रोग्राम जामिया अल हिदाया के प्रांगण में हुआ
प्रोग्राम मे जामिया के छात्र छात्राओं ने देश भक्ति पर आधारित शनादर प्रस्तुति दी,बच्चो ने नाटक,भाषण,नज़्मों के ज़रिये आज़ादी के मतवालों की कुर्बानियो को याद किया,कई बार प्रोग्राम में उपस्थित लोगों की आँखे नम हुई,
प्रोग्राम की अध्यक्षता हाफ़िज़ मुहम्मद फुरक़ान असअदी ने की ,जबकि संचालन जामिया अल हिदाया के प्रबन्धक मौलाना मूसा क़ासमी ने किया,
स्वंतत्रता दिवस के इस प्रोग्राम में मुख्यातिथि के तौर पर पूर्व विधायक व कांग्रेस के दिग्गज नेता सोमांश प्रकाश व विशिष्ट अतिथि पैग़ाम ए इंसानियत के अध्यक्ष आसिफ राही रहे ,
इस अवसर पर पूर्व विधायक सोमांश प्रकाश ने कहा कि आज़ादी के मतवालो ने देश को आज़ादी दिलाने की ख़ातिर अपने बच्चे ,मां बाप समेत सब कुछ क़ुरबान कर दिया था,उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी,पण्डित नेहरू,सुभाषचंद्र बोस,शैखुल हिन्द मौलाना महमूदुल हसन देवबन्दी,शैखुल इस्लाम मौलाना हुसैन अहमद मदनी,शहीद भगत सिंह ,अशफ़ाक़ुल्ला खां समेत हज़ारो की संख्या में भारत के सपूतो ने अपनी जानो का नज़राना देश की आज़ादी के लिये दिया,उसी का नतीजा है कि हम खुली फ़िज़ा में सांस ले रहे हैं,
अधयक्ष हाफ़िज़ फुरक़ान असअदी ने कहाँ ये दिन हमारा क़ौमी त्योहार है,जो सब एक साथ भरपुर जज़्बे के साथ मनाते हैं,लेकिन हमे उन मुजाहिदीन ए आज़ादी की क़ुर्बानियों को भी याद करना चाहिये जिनकी बदौलत ये दिन देखने को मिला,उन्होंने पूरी अखण्डता,इत्तेहाद और कदम से क़दम मिलाकर ग़ुलामी की जंज़ीरों को तोड़ा था,अंग्रेजों को मुल्क से भगाया था,आज हमें संकल्प लेना है कि इसी तरह कन्धे का कन्धा मिलाकर देश से फ़िरक़ा परस्ती,भरष्टाचार नशा ख़ोरी को ख़त्म करना है ये ही सबसे बड़ी देश भक्ति होगी,
पैग़ाम ए इंसानियत संस्था के अध्यक्ष आसिफ राही ने कहा कि आज ख़ुशी है की हमारा देश आज़ाद हो गया लेकिन क्या हम आज़ादी का भरपूर आनन्द ले रहे हैं,आज आज़ाद हिंदुस्तान में साम्प्रदायिकता,मोब लिंचिंग,भरष्टाचार अपने चरम पर है,हमे सबको मिलकर इनके के खिलाफ लड़ना होगा,
यमनकुमार एडवोकेट ने कहा कि देश की आज़ादी किसी भी धर्म समाज की अकेल की वजह से नही हई,बल्कि आज़ादी की लड़ाई में जहां गांधी जी नेहरू जी का योगदान है वही मौलाना आज़ाद,मौलाना हुसैन अहमद मदनी,शहीद भगत सिंह,अशफ़ाक़ुल्ला खान के योगदान किसी से कम नही,उन्होंने कहा कि बाबा जी भीम राव अम्बेडकर देश को सविंधान के रूप में सशक्त रास्ता देकर गए है,उन्होंने उन देशद्रोही शक्तियों के खिलाफ कविता पढ़कर जिन्हों ने देश का संविधान जलाने का अपराध किया है लोगों को जागरूक किया,
जामिया के छात्र/छात्राओं ने स्वन्त्रता दिनवस पर देश भक्ति भाषण,नाटक,नज़्में पढ़कर माहौल को भावुक कर दिया,
इस अवसर पर पूर्व विधायक सोमन्श प्रकाश,हाफ़िज़ फुरक़ान,मौलाना मूसा क़ासमी,मौलाना अहसान क़ासमी,
हाजी आसिफ राही,नफीस प्रधान,हाजी फ़ैयाज़ पूर्व प्रधान,हाजी यमन कुमार एडवोकेट,विजय पाल,महीपाल,चुन्नी लाल,श्याम सिंह भगत,
प्रधानाचार्य फुरकान गौर,कारी शुऐब आलम,कारी शाहनवाज,चौधरी लुक़मान ,ज़हीर अहमद,दिलशाद पहलवान,हाजी नईम,साजिद अत्तार,मौलाना सलीम आदि उपस्थित रहे।

Translate »